Saturday, December 7, 2019
स्वप्नदोष क्या है ? स्वप्नदोष की बीमारी होने के कारण  क्या होते है ?

Nightfall का हिन्दी अर्थ होता है , स्वप्नदोष | यह बीमारी पुरुषों में होती है | आज अगर हम देखे तो ऐसा कोई पुरुष नहीं है जिसे यह बीमारी ना हुई हो | आज हम स्वप्नदोष के होने के कारण और उनका समाधान आपको बताने वाले है | अगर आप इसके कारणों को अच्छे से समझते है और निचे बताये गए उपायों का पालन करते है तो आप निश्चित ही इस बीमारी को जड़ से समाप्त कर पाएंगे |

” सोते समय वीर्य के निकल जाने की स्थति को स्वप्नदोष (नाईट फॉल ) कहा जाता है | “

स्वप्नदोष कोई बीमारी ना होकर यु कहे की एक प्राकृतिक समस्या है जो नवयुवकों में हो जाती है | युवाओ का मन बड़ा चंचल होता है , जब कोई किशोरावस्था से युवावस्था में जाता है तो वह कई तरह की प्रक्रियाओं से होकर गुजरता है , जिसमे प्रमुख है अश्लीन चित्रों को देखना , अश्लीन वीडियो देखना , हस्थमैथुन करना |
जब इस तरह के चलचित्र उसके दिमाग में होते है तो रात्री में भी उसे इसी तरह के स्वप्न आते है जिसका परिणाम ये होता है की अत्यधिक उत्तेजना बढ़ती है और वीर्य का पतन हो जाता है | इस अवस्था का नाम है स्वप्नदोष |

स्वप्नदोष के कारण :

1. अश्लीन विचार :

स्वप्नदोष का प्रमुख कारण अश्लीन चित्र अथवा अश्लीन फिल्म देखना है | आपके मन में कामवासना से संबन्धित ख्याल आते है जो की स्वप्नदोष के प्रमुख कारण बनते है |

2. पत्नी या प्रेमिका से दुरी :

अगर पति -पत्नी या प्रेमी – प्रेमिका के बिच में अत्यधिक आकर्षण हो तथा सम्बन्ध काफी गहरा हो, तो दोनों के बिच की दूरियाँ भी स्वप्नदोष का एक कारण बनती है |

3. अशुद्ध या ख़राब खान पान :

आज इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में युवा अपने खान पान का ख्याल नहीं रख पाता , उसकी दिनचर्या में कचौरी , समोसे जैसे तली गली चीजे खाता है , इस कारण भी स्वानदोष की शिकायत हो जाती है |

4. दूध से बनी चीजों का अधिक सेवन :

आजकल मीठा खाने का शौक किसे नहीं होता , खासकर की युवाओ को | ज्यादातर युवा दूध , घी और मावा से मिलकर बनी मिठाइयाँ बड़े चाव से खाते है , इस कारण भी स्वप्नदोष हो जाता है | रोज रात को अधिक मात्रा में गर्म दूध पिने से भी स्वप्नदोष होने की संभावनाएं बढ़ जाती है |

5. मानसिक दबाव के कारण :

युवाओ में यदी किसी प्रकार का भय है तो उनके अंदर एक मानसिक दबाव बन जाता है जिसके कारण उनका शरीर काफी शिथिल हो जाता है , इसी वजह से भी स्वप्नदोष की समस्याएं बढ़ जाती है |

स्वप्नदोष में ये रखे सावधानी :

  1. मन को पवित्र रखने के लिए धार्मिक पुस्तकों का अध्यन करे |
  2. रोज रात्रि में ठण्डे पानी से नहाएं |
  3. रात्रि में गर्म दूध ना पिये |
  4. उत्तेजना पैदा करने वाले चलचित्र ना देखे और ना ही ऐसे साहित्य पढ़े |
  5. सोने से तीन घंटे पहले भोजन कर ले |
  6. गुप्तांग के आस पास बालों को बढ़ने ना दे |
  7. गुप्तांग की चमड़ी को पीछे हटाकर रोज साफ पानी से धो ले |
  8. रोजाना हल्का व्यायाम करे |

स्वप्नदोष के घरेलू उपाय :

  1. सोते समय ४ ग्राम मिश्री में कपूर मिलाकर कुछ दिनों तक खाने से स्वप्नदोष में आराम मिलता है |
  2. आँवले का मुरब्बा १ से २ ग्राम रोज खाने से स्वप्नदोष जड़ से ख़त्म हो जाता है |
  3. इमली के बीज को भूनकर बराबर मात्रा में शक्कर में मिलाकर रख ले और इसे एक चम्मच गाय के दूध के साथ ले , स्वप्नदोष में काफी आराम होगा |
  4. खाना खाने के बाद २ पके हुए कैले में २ – ४ बूंद शहद मिलाकर खाने से स्वप्नदोष में आराम होता है और वीर्य बढ़ता है |
  5. ताजे नीम की पत्तियों को रोज चबाकर खाने से स्वप्नदोष की समस्या का जड़ से नाश हो जाता है |

 

 

 

Tags: , , , , , , , , ,
Avatar

0 Comments

Leave a Comment

FOLLOW US

GOOGLE PLUS

PINTEREST

FLICKR

INSTAGRAM